jo bole so nihal movie story

jo bole so nihal movie story

जो बोले सो निहाल फिल्म कहानी इन हिंदी

या फिल्म रोमियो नाम से एक आदमी से स्टार्ट होती है जो कि एक बहुत बड़ा आतंकवादी होता है जो कि अलग-अलग देशों में बम ब्लास्टकरता है निहाल सिंह (सनी देओल) पुलिस कांस्टेबल है जो पूरी ईमानदारी के साथ अपना काम करता है।रोमियो (कमाल खान) एकआतंकवादी है जो अपना जहर फैलाने के लिए एक देश से दूसरे देश जाता है।

1 दिन निहाल सिंह अपनी ड्यूटी पर होता है वहीं पर रोमियो एक चर्च से बाहर निकल रहा होता है और जैसे ही वह अपनी जीप में बैठता हैतो तुरंत निहाल सिंह उससे पूछताछ करने लगता है और वहां पर रोमियो निहाल सिंह को मनगढ़ंत कहानी सुना कर भाग जाता है जिसकी वजह से निहाल सिंह को पुलिस डिपार्टमेंट द्वारा एक आतंकवादी को भगाने के जुर्म में उन्हें नौकरी से निकाल दिया जाता है और बहुत बेइज्जत किया जाता है जिसके कारण सिंह की छवि बहुत खराब हो जाती है और इसी कारण उनके घर वालों को भी लोग बुरा भला कहते हैं और उनके घर वालों को भी गांव वाले अपमानित करते हैं और उनके पिताजी का सरपंच से पद भी छीन लेते हैं तभी वहीं पर निहाल सिंह यह सोचता है कि यह सब परेशानियां तक खत्म होगी जब रोमियो को वह खुद पकड़कर इसी गांव में लाएगा और वह सब को सच्चाई बताएगा और वह रोमियो को ढूंढना शुरू कर देता है.

इस बीच, अमेरिकी राष्ट्रपति को मारने के लिए रोमियो न्यूयॉर्क में अपने पंख फैलाता है।क्योंकि निहाल सिंह ही जानता है कि रोमियो कैसा दिखता है वही उसको पहचान सकता था इसलिए उसे रोमियो को पकड़ने में मदद करने के लिए एफबीआई द्वारा भर्ती किया जाता है। और निहाल सिंह को अमेरिका लाया जाता है पर निहाल सिंह रोमियो को ढूंढने में मदद करने लगता है वहां पर निहाल सिंह की एसबीआई वालों से एक शर्त होती है कि वह अपने छवि को सही करने के लिए निहाल सिंह को पकड़कर वह अपने गांव ले जाएगा जिससे उसको फिर सेसम्मानित किया जा सके .

और फिर 1 दिन अमेरिका में 19 जनवरी को न्यूयॉर्क के ग्रैंड हयात होटल में इंटरनेशनल इस्लामिक वूमेन कांफ्रेंस होती है वहां पर यूएस सेक्रेटरी की बीवी महारथा चीफ गेस्ट के रुप में आती है वहीं पर रोमियो एक बम ब्लास्ट धमाका करने के लिए सारा प्लान फिट करता है और वहीं पर निहाल सिंह भी मौजूद होता है एक औरत वहां पर आती है और अपने बैग में बम रखकर वहां चर्च के टेबल पर रख कर चली जाती है निहाल सिंह उसे देख लेता है और उस बैग को उठाकर उसे वापस देने के लिए उसके पीछे दौड़ता है और फिर उसके कार में वह बैग रख देता है और फिर कुछ ही देर में बहुत बड़ा धमाका होता है इस तरह निहाल सिंह चर्च में होने वाले धमाके से चर्च के लोगों को बचा लेता है .

jo bole so nihal movie story
1 दिन निहाल सिंह एफबीआई एजेंट लीजा के साथ बैंक जाता है लीजा बैंक के अंदर चली जाती है और निहाल सिंह बाहर खड़ा होता है तभी उसकी नजर रोमियो पर पड़ती है और वह उसका पीछा करने लगता है लेकिन वह उसको पकड़ नहीं पाता पीछा करते-करते इतनी दूर कल जाता है कि वह भूल जाता है कि वह कहां से आया है और फिर वह अपने जीजा के घर चला जाता है निहाल सिंह के जीजा एक जानवर के डॉक्टर होते हैं और वाह निहाल सिंह को वापस एसबीआई के पास पहुंचाने में मदद करते हैं एसबीआई पहुंचकर निहाल सिंह बताता है कि वह आज रोगियों को देखा है निहाल सिंह परिहार वालों का प्रेशर होता है कि वह जल्द ही रोगियों को पहचान ले .

1 दिन जिस दिन रोमियो सर्च में कांफ्रेंस करने आता है उसी दिन निहाल सिंह ने उसे पकड़ने का वादा किया और सभी चर्च में अपने पुलिसकर्मी तैनात करवा दिए और जब रोमियो वहां आता है तो वहां से भी निकल जाता है और पुलिस उसे पकड़ नहीं पाती है जिससे वाले निहाल सिंह पर नाराज हो जाते हैं और कहते हैं तुम्हारी वजह से हम रोमियो को पकड़ नहीं पाए और उसे वापस इंडिया भेजने की बात करते हैं जिसकी वजह से निहाल सिंह वहां से भाग जाता है.

निहाल सिंह को लीजा से प्यार हो जाता है और वह लीजा के साथ जा रहा होता है तभी पीछे से रोमियो पीछे से उस पर चाकू से वार करता है तभी निहाल सिंह रोमियो को पकड़ने के लिए रोमियो को दौड़आता है और कुछ दूरी तय होने के बाद उसे पकड़ लेता है लेकिन वहीं पर  एसबीआई वाले वहां पर आ जाते हैं और निहाल सिंह से रोमियो को एसबीआई के हवाले करने को कहते हैं लेकिन निहाल सिंह एफबीआई के हवाले नहीं करता है और रोमियो को छोड़ देता है इसकी वजह से निहाल को एसबीआई वाले गिरफ्तार कर लेते हैं और फिर निहाल सिंह लीजा की मदद से एसबीआई वालों से भाग निकलता है और भाग कर वाह अपने जीजा के घर पहुंचता है जहां उसे पता चलता है कि सिकंदर नाम का आदमी ही रोमियो है और वह उसे पकड़ने के लिए सिकंदर के घर जाता है लेकिन वहां पर भी सिकंदर अपने दिमाग से निहाल सिंह से बचकर भाग जाता है .

और फिर अगले दिन रोमियो अपना भेष बदलकर अमेरिका से भागने के लिए एक जहाज पर आता है वहीं पर निहाल सिंह भी उसे ढूंढने के लिए आता है और वहीं पर काफी मेहनत के बाद निहाल सिंह रोमियो को पकड़ लेता है, और उसे पकड़ कर अपने गांव ले आता है जहां पर रोमिंग सारी सच्चाई बताता है जिसकी वजह से निहाल सिंह की खोई हुई इज्जत वापस मिल जाती है और उसे नौकरी पर फिर से रख लिया जाता है और उसके घर वालों को भी मान सम्मान दिया जाता है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*